देशभक्ति इस्लाम में हराम, मुस्लिम देशों से प्यार करे भारत के मुसलमान : मुस्लिम धर्मगुरु

 
 
पिछले दिनों सपा के एक नेता ने कहा था की 
मुसलमानो के लिए इस्लाम पहले है देश बाद में, पर सेक्युलर तत्वों ने सपाई नेता के इस बयान को उसका निजी बयान बता दिया था
 
पर अब केरल के एक मुस्लिम धर्मगुरु ने जो बयान दिया है 
वो उसका निजी बयान नहीं, बल्कि उसने अपना बयान इस्लाम और सऊदी अरब के  मुस्लिम धर्मगुरु की विचारधारा के हवाले से दिया है 
 
केरल के मुस्लिम धर्मगुरु अब्दुल मुहसिन एडिड ने कहा है की मुसलमानो के लिए देशभक्ति हराम है, इस्लाम में देशभक्ति हराम है 
साथ ही इस मुस्लिम धर्मगुरु ने कहा है की, भारत के मुसलमानो को इस्लामिक देशों (पाकिस्तान, सऊदी इत्यादि) से प्यार करना चाहिए, भले ही वो उसके निवासी न हो, या उन देशों से कोई सम्बन्ध भी न हो 
सिर्फ इस्लामिक होने के कारण इस्लामिक देशों से प्यार करना चाहिए उनके प्रति ईमानदारी रखनी चाहिए 
 
मुस्लिम धर्मगुरु का ये बयान टाइम्स ऑफ़ इंडिया के कोच्ची संस्करण में भी छापा गया है 
जिसे आप देख सकते है 
 
 
इस मुस्लिम धर्मगुरु का साफ़ कहना है की, मुसलमानो के लिए इस्लाम पहले है, और भारत की जगह उन्हें उन देशों को प्यार करना चाहिए जो की इस्लामिक देश हो, जैसे की पाकिस्तान, सऊदी अरब, बांग्लादेश, अफगानिस्तान इत्यादि 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

403 Forbidden

403 Forbidden


nginx